होम बिहार भारत- नेपाल सीमा पर नारायणी गंडकी महाआरती का आयोजन

भारत- नेपाल सीमा पर नारायणी गंडकी महाआरती का आयोजन

23
0

बेतिया. ज्येष्ठ पूर्णिमा के अवसर पर भारत नेपाल सीमा के बेलवा घाट परिसर में गुरुवार की रात को स्वरांजलि सेवा संस्थान की तरफ से 88वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसका शुभारंभ मुख्य अतिथि डॉक्टर एनबी शाही, चर्चित कलाकार डी. आनंद, समाजसेवी संगीत आनंद, विशिष्ट अतिथि शिक्षिका आशा कुमारी, अंतरराष्ट्रीय न्यास स्वरांजलि सेवा संस्थान की राष्ट्रीय अध्यक्षा अंजू देवी, थारू कला संस्कृति एवं प्रशिक्षण संस्थान के सचिव होम लाल प्रसाद, एडिटर स्वरांजलि सरगम एवं गायिका भारती कुमारी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया।

इस मौके पर मुख्य अतिथि डॉक्टर शाही ने कहा कि हर महीने की पूर्णिमा तिथि को संगम तट पर इस महाआरती का आयोजन होता है। पर्यावरण संरक्षण संवर्धन के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने वाला यह कार्यक्रम वाल्मीकि धाम और त्रिवेणी धाम पर्यटन को बढ़ावा दे रहा है। मैनेजिंग डायरेक्टर संगीत आनंद ने कहा कि कोरोना का कहर अभी खत्म नहीं हुआ है। हम सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

शिक्षिका आशा कुमारी ने कहा कि संस्था द्वारा प्रतिभाशाली लड़के लड़कियों को निःशुल्क संगीत और कला का प्रशिक्षण देकर स्वावलंबी बनाया जाता है, जो एक अच्छी पहल है । थारू समाज के कलाकार भी इस संस्था से लाभान्वित हो रहे हैं। वर्चुअल रूप से संबोधित करते हुए आचार्य अखिलेश्वर पांडे ने कहा कि 2021 की पूर्णिमा का सुखद योग कई दशक बाद आया है। उदयभानु चतुर्वेदी एवं अनिरुद्ध दुबे ने कहा कि संस्था द्वारा विगत 9 वर्षों से लावारिश दिव्यांग जनों को सुबह-शाम निःशुल्क भोजन बांटा जाता है। ऐसी मानवीय सेवा को ही धर्म और सत्कर्म कहते हैं।

अंजू देवी ने कहा कि मानव सेवा ही सच्ची ईश्वर भक्ति है। गुरुवार के दिन ज्येष्ठ पूर्णिमा का होना अति लाभकारी और मंगलकारी है। पूर्णिमा के दिन नारायणी संगम तट पर कथा पूजन करने से मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है। डी. आनंद ने अपने भजनों के माध्यम से भक्तों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया। गायिका भारती कुमारी ने “छोटी-छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल” भजन के माध्यम से कृष्ण भक्ति की अलख जगाई। गायक संगीत आनंद ने माता पिता की भक्ति पर आधारित भजनों को प्रस्तुत किया । डॉक्टर शाही एवं थरुहट की सम्मानित महिला शिक्षिका आशा कुमारी को अंगवस्त्र एवं धार्मिक पुस्तकों से सम्मानित किया गया। भक्त राजेश यादव ने शाकाहार को उत्तम आहार बताया। इस मौके पर दिल कुमारी देवी, मीना देवी, अविनाश सिंह, अनमोल कुमार, जवाहर राम, राजेश शर्मा, चुन्नु ठाकुर, तुलसी कुमारी, सूरज कुमार एवं राजकुमार उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन डी.आनन्द ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन होम लाल प्रसाद ने किया।

पिछला लेखगोरखधंधा : बैंकों के एटीएम में रूपए डालने की बजाय सूद पर लगा देते थे कर्मचारी !  
अगला लेखनीतीश सरकार की उपलब्धियां लोगों तक पहुंचाना है प्राथमिकता : उमेश सिंह कुशवाहा
Pratah Kiran is Delhi & Bihar's Rising Hindi News Paper & Channel. Pratah Kiran News channel covers latest news in Politics, Entertainment, Bollywood, Business and Sports etc.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें