होम Breaking News शनि की साढ़े साती का प्रभाव इन लोगों पर नहीं पड़ता

शनि की साढ़े साती का प्रभाव इन लोगों पर नहीं पड़ता

75
0

Shani Dev Sade Sati: हिंदू धर्म के मुताबिक़, शनि देव को न्याय का देवता या कर्म फल दाता माना गया है. ये ही कर्मों के हिसाब से ही शुभ और अशुभ फल देते हैं. कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनके ऊपर शनि का प्रभाव नहीं पड़ता है. आइये जानें विस्तार से,

Shani Dev Sade Sati Effectज्योतिष शास्त्र में शनि की अहम भूमिका होती है. नवग्रहों में इन्हें न्याय का देवता माना जाता है. इनकी स्थिति और दृष्टि बहुत ही महत्त्वपूर्ण होती है. शनि देव लोगों को उनके कर्मों के हिसाब से ही शुभ और अशुभ फल देते हैं. कुंडली में शनि अशुभ भाव में हो तो जातकों को अशुभ फल मिलने लगते हैं. शनि मंदगति से चलते हैं इसलिए इसके परिणाम भी बहुत धीमी गति से मिलते हैं.

 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, जिस व्यक्ति पर शनि की अशुभ छाया पड़ती है उसे अपने जीवन में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है. शनि की महादशा, साढ़ेसाती और अशुभ छाया से जीवन में परेशानियां बढ़ने लगती हैं. शनि के अशुभ प्रभाव से जहां लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता, कई प्रकार के दुखों को सहना पड़ता है वहीं शनि के शुभ प्रभाव से व्यक्ति के सभी प्रकार के दुःख दूर हो जातें है. घर-परिवार में अकूत संपदा हो जाती है. उसका जीवन राजा की तरह हो जाता है. उन्हें किसी भी तरह की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है.

इन लोगों पर नहीं पड़ता है शनि का प्रभावज्योतिष शास्त्र में ऐसी मान्यता है कि जो अच्छे कर्म करते हैं, उनपर पर शनि देव का अशुभ प्रभाव नहीं पड़ता है. नीचे दिए गए गुणों से युक्त लोगों पर शनि का अशुभ प्रभाव नहीं पड़ता है.

 

श्रमशील और मेहनत करने वाले लोगों पर

 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, जो लोग ईमानदारी से मेहनत कर अपना और अपने परिवार का जीवन यापन करते हैं उन लोगों पर शनिदेव की विशेष कृपा बनी रहती है. वे शनि की महादशा से मुक्त रहते हैं.

 

गरीबों की मदद करने वाले लोग

 

जो लोग हमेशा गरीबों की मदद के लिए तैयार रहते है और आगे आकर उनकी मदद करते हैं. ग़रीबों की मदद के लिए लोगों को प्रोत्साहित करते हैं. ऐसे लोगों पर शनिदेव की विशेष कृपा बनी रहती है. इस लिए लोगों को अपने सामर्थ्य के अनुसार गरीब लोगों की मदद जरूर करनी चाहिए.

 

साफ– सफाई का ध्यान रखने वाले लोग

 

शनिदेव न्याय के देवता हैं, उन्हें साफ़-सफाई पसंद है. शनिदेव ऐसे लोगों से भी प्रसन्न रहते हैं जो साफ- सफाई का विशेष ध्यान रखते हैं. ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने नाखून को दांतों से चबाते हैं. उन लोगों से शनि देव नाराज हो जाते हैं, इसलिए लोगों को भूल कर भी नाखून को दांतों से नहीं चबाना चाहिए.

 

सच और न्याय का साथ देने वाले

 

नवग्रहों में शनिदेव को न्याय और कर्मफल के अनुसार फल देने वाले देवता कहे जाते हैं. जो लोग हमेशा ईमानदार, सच और न्याय का साथ देते हैं उन पर शनिदेव की विशेष कृपा बनी रहती है. उनपर शनि का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें