होम Breaking News बाइडन और कमला हैरिस को टाइम मैगजीन ने बनाया ‘पर्सन ऑफ द...

बाइडन और कमला हैरिस को टाइम मैगजीन ने बनाया ‘पर्सन ऑफ द ईयर’

39
0

बाइडन और कमला हैरिस को टाइम मैगजीन ने बनाया ‘पर्सन ऑफ द ईयर’

साल 2020 के लिए टाइम मैगजीन ने अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस को ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ चुना है. बाइडन ने ट्रंप को राष्ट्रपति चुनाव में बड़े अंतर से हराया है.

टाइम मैगजीन ने अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस को साल 2020 के लिए ‘पर्सन ऑफ द ईयर‘ घोषित किया है.

समाचार एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडन और कमला हैरिस ‘टाइम पर्सन ऑफ द ईयर’ चुने गए हैं. जो बाइडन ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को भारी मतों से हराया है. वहीं, कमला हैरिस अमेरिका की पहली अश्वेत और पहली दक्षिण एशियाई उप-राष्ट्रपति चुनी गई हैं. पिछले साल, पर्यावरण ऐक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग को इस टाइटल से नवाजा गया था. वहीं, साल 2016 में मैगजीन ने डोनाल्ड ट्रंप को ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ चुना था.

टाइम मैगजीन ने जो बाइडन और कमला हैरिस की तस्वीरों को अपनी कवर फोटो बनाया है. मैगजीन ने फोटो के साथ ‘Changing America’s story’ टाइटल दिया है. 78 वर्षीय बाइडन को राष्ट्रपति चुनाव में 306 इलेक्टोरल वोट हासिल हुए थे जबकि ट्रंप को सिर्फ 232 इलेक्टोरल वोट मिले थे.

टाइम मैगजीन ने कमला हैरिस और जो बाइडन के ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ चुने जाने को लेकर लिखा, “अमेरिका की कहानी को बदलने के लिए, मतभेद के बजाय सहानुभूति को ज्यादा बड़ी ताकत साबित करने के लिए और मुश्किल वक्त से गुजर रही दुनिया को एक विजन देने के लिए.”

जो बाइडेन और कमला हैरिस के अलावा, इस टाइटल के तीन और दावेदार थे जो फाइनल तक पहुंचे थे. इनमें हेल्थ केयर वर्कर्स, अमेरिका के महामारी एक्सपर्ट्स एथंनी फाउची और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप थे.

कोविड-10 महामारी के दौरान अपनी जान को जोखिम में डालने वाले नर्स, डॉक्टर्स, डिलीवरी ब्वॉय समेत तमाम वर्कर्स ने TIME Person of the Year Reader Poll जीता है. टाइम मैगजीन ने कहा कि इस साल हुए मतदान में कुल 80 लाख वोट पड़े जिनमें से 6.5 फीसदी वोट इन हीरोज को मिले.

टाइम मैगजीन ने अपने पाठकों से साल 2020 में सबसे ज्यादा प्रभाव छोड़ने वाले किसी व्यक्ति या समूह को चुनने के लिए कहा था. हेल्थ वर्कर्स और सेवा क्षेत्र में काम कर रहे लोग बाकी 80 उम्मीदवारों से आगे निकल गए थे. इनमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, फेसबुक सीईओ मार्क जकरबर्ग और पोप फ्रांसिस समेत हस्तियां भी शामिल थीं.

पिछला लेखकिसान आंदोलन से बढ़ी दुष्यंत की चिंता, क्या अब खट्टर सरकार की बढ़ेगी टेंशन?
अगला लेखकिसान आंदोलन में शरजील इमाम का पोस्टर, तोमर बोले- ये किसानों से जुड़ा मुद्दा तो नहीं
Pratah Kiran is Delhi & Bihar's Rising Hindi News Paper & Channel. Pratah Kiran News channel covers latest news in Politics, Entertainment, Bollywood, Business and Sports etc.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें